विजन और मिशन

  • मिशिन - "हमारे ग्राहकों को बेहतरीन मूल्य पर दक्ष सीपोर्ट एवं लाॅजिस्ट्क्सि सेवाओं का प्रबंध करना"

  • बहुमूल्यता

  • * ग्राहकों की पूर्ण संतुष्टि
  • * स्टेकहोल्डरों के साथ सहभागिता
  • * क्वाॅलिटी एवं टीम वर्क की वचनबद्धता
  • * कार्य में निष्पक्षता, जवाबदेही एवं पारदर्शिता
  • * सामाजिक एवं प्राकृतिक पर्यावरण के लिए मनन
  • * निष्पादन, सुरक्षा एवं संरक्षा के जरिए मूल्य जोडना
  • विज़न - "अधिमानित भारतीय पत्तन होना"

Latest Tweets Latest Tweets

वीओसी पोर्ट के बारे में वीडियो

अध्यक्ष का संदेश

जैसे कि आज हम, अपनी मात्रभूमि की 71वाँ स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं, इस ऐतिहासिक पर्व पर, राष्ट्रीय ध्वज को लहराने का अवसर मुझे देने के लिए, मैं इस विशेषाधिकार से , नम्रपूर्वक सम्मानित महसूस कर रहा हूँ। कृपया आज के इस महान राष्ट्रीय महत्वता के दिन , मेरा हार्दिक देशभक्त अभिनंदन स्वीकार करें।

इस वर्ष हम, भारत छोडो आंदोलन, जो कि महात्मा गंाधी जी के नेतृत्व में 9, अगस्त, 1942 को चलाई गई भारत की स्वतंत्रता संग्राम का एक महत्वपूर्ण मील पत्थर है, की 75वीं जयंती भी मना रहे हैं। इस क्रांतिकारी आंदोलन और बाद के क्रमागत घटनाओं के फलस्वरूप, अंग्रेजों को भारत छोडना पडा और देश को , 15 अगस्त, 1947 अर्थात इस आंदोलन ...

पत्तन का इतिहास

तूत्तुक्कुडि का इतिहास

 

साहित्य में, इसका पहला जिक्र, 88 ग्रीक कार्य - “पेरियुप्लस आॅफ दी एरिथ्रियन सी“- में ईसवी सन् 88 में किया गया। सन् 124 में, इसका पहला संदर्भ, प्टोल्मी द्वारा किया गया, जिसने देखा कि “कोल्तिक खाडी में“, कराई नामक देश है, जहाँ पर्ल फिशरी, सोसीकौराय एवं कोलकोहौ और सोलान नदी के मुहाने पर, वाणिज्य केन्द्र है। इसमें शक की गुंजाइश ही नहीं होती कि प्टोलमी का सोसीकौराय, तूत्तुक्कुडि है और कोई नहीं। सन् 200 से ईसवी सन् 100...